Turniej Tłumaczy 2019

Stanisław Wyspiański

Jakżeż ja się uspokoję

मैं कैसे शांत रहूंगा
मेरे आंखों में डर सा भरा है
मेरे विचार डर से भरे हैं
मेरा दिल डर से भर गया है
मेरे स्तन कांप रहे हैं
मैं कैसे शांत रहूंगा….

przełożył Lalta Prasad Baishy

Accessibility